UPTET Update 2023: यूपी टेट नोटिफिकेशन और आवेदन कार्यक्रम हुआ घोषित CM के सख्त निर्देश

UPTET Update 2023: यूपी टेट नोटिफिकेशन और आवेदन कार्यक्रम हुआ घोषित CM के सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश में ली जाने वाली UPTET परीक्षा अर्थात उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा 2023 के नोटिफिकेशन की प्रतीक्षा यदि आपको भी है, तो अब आप को इस संदर्भ में खुशखबरी प्राप्त होने वाली है। इस परीक्षा को उत्तर प्रदेश राज्य के काफी सारे अभ्यर्थियों के द्वारा दिया जाता है। यदि आप भी उत्तर प्रदेश राज्य के निवासी है, तो आप यह बात भली भांति जानते होंगे।

इस पोस्ट में हम आपको उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा 2023 से संबंधित सारी आवश्यक जानकारियां उल्लेखित करने वाले हैं। जिसको जानने के पश्चात आपको निसंदेह रूप से प्रसन्नता ही होगी।

UPTET परीक्षा 2023 की नोटिफिकेशन

आपकी जानकारी हेतु हम आप को इस बात से अवगत करवा दे कि नोटिफिकेशन को लेकर के काफी सारी जानकारीयां लोगों के समक्ष प्रस्तुत की जा रही है, क्योंकि उत्तर प्रदेश में काफी ज्यादा लंबे समय से उत्तर प्रदेश टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट 2023 की अधिसूचना को जारी किया गया था।

UPTET 2021 का रिजल्ट 23 जनवरी 2022 को जारी कर दिया गया था। इसके पश्चात से UPTET से संबंधित कोई भी नोटिफिकेशन जारी नहीं कि गई थी। इसके पश्चात से लगातार अभ्यार्थियों को प्रतीक्षा करनी पड़ रही है।

आपकी जानकारी हेतु हम आप को इस बात से अवगत करवा दें कि अभी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने घोषणा करी है, कि उत्तर प्रदेश में 1 शिक्षा सेवा चयन आयोग बनाया जाएगा यदि यह शिक्षा सेवा चयन आयोग बनवाया जाता है।

तो इसके बाद अब से बेसिक से लेकर उच्च स्तर तक के शिक्षकों की भर्ती की जाएगी। इसके साथ ही साथ UPTET का भी आयोग आयोजित किया जाएगा।

एक नई अपडेट

अभी हाल फिलहाल UPTET 2023 को लेकर के नोटिफिकेशन जारी किया जा चुका है। जिसमें अपडेट प्रदान की गई है कि UPTET 2023 के लिए आवेदन की प्रक्रिया को शीघ्र ही प्रारंभ कर दिया जाएगा।

अब यदि कारण की बात की जाए तो हम आपको बता दें कि नए शिक्षा सेवा चयन आयोग के गठन में कुछ समय लग सकता है। यदि इसमें समय लगेगा तो फिर एक बार पुनः से यूपीटीईटी कराने की जिम्मेदारी परीक्षा नियामक पदाधिकारी  को ही दे दी जाएगी।

आपको बता दें कि यूपीटेट के नोटिफिकेशन को फरवरी के महीने में ही जारी किया जा सकता है। ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया की शुरुआत भी संभवतः फरवरी के महीने में ही होगी।

किंतु यह परिक्षा एक बार पुनः से परीक्षा नियामक पदाधिकारी के द्वारा ही हो सकता है। यदि नए शिक्षा सेवा चयन आयोग के गठित होने में समय लगता है, तो फिर ऐसा हो सकता है।

यह परीक्षा क्यों?

यदि आप उत्तर प्रदेश राज्य में रहते हैं, तो फिर आप ने अवश्य ही कभी ना कभी किसी से UPTET के विषय में सुना होगा। तो आपके मन में जिज्ञासा भी अवश्य ही उत्पन्न हुई होगी कि आखिर यह है क्या?

तो हम आपको बता दे कि UPTET एक परीक्षा है, जो कि उत्तर प्रदेश राज्य में हर साल आयोजित करवाई जाती है।

इस परीक्षा के माध्यम से सरकार योग्य शिक्षकों का चयन करती है। जिन्हें विद्यालय में छात्रों को पढ़ाने का शुभ अवसर प्रदान किया जाता है।

यदि सरल भाषा में कहा जाए, तो वे सभी अभ्यर्थियों जिन का स्वप्न शिक्षक बनने का है। उन्हें UPTET की परीक्षा देनी होगी। तभी उनका यह सपना पूरा हो सकता है।

किन-किन शिक्षकों की नियुक्ति होती है?

यदि आप उत्तर प्रदेश में आयोजित की जाने वाली यूपीटीईटी परिक्षा अर्थात Uttar Pradesh Teacher Eligibility Test देने हेतु इच्छुक है, तो फिर आवश्यक है कि आप निम्न बातों पर भी गौर करें।

उत्तर प्रदेश में ली जाने वाली इस योग्यता परीक्षा में कुल मिलाकर के 2 पेपर होते हैं। पहला पेपर उन उम्मीदवारों के लिए होता है, जो कक्षा 1 से लेकर के कक्षा 5 तक के छात्रों को स्कूलों में पाढ़ने हेतु शिक्षक बनना चाहते हैं।

यदि बात की जाए दूसरे पेपर की तो यह दूसरा पेपर उन उम्मीदवारों के लिए आयोजित करवाया जाता है, जो कक्षा 5 से लेकर के कक्षा 8 तक के छात्रों को पढ़ाने हेतु शिक्षक बनना चाहते हैं।

आज इस पोस्ट में हम आपको UPTET से संबंधित काफी सारी आवश्यक जानकारियां उल्लेखित करने वाले हैं।

इस परीक्षा के प्रश्न वस्तुनिष्ठ जानें 

आपको इस परीक्षा में ऑब्जेक्टिव क्वेश्चंस के उत्तर भी देने होंगे। यह प्रत्येक उत्तर आपको एक अंक प्राप्त करने में सहायता प्रदान करेगा।

इस परीक्षा में किसी भी प्रकार की कोई नेगेटिव मार्किंग नहीं होगी।

प्रथम प्रश्न पत्र केवल ऐसे व्यक्तियों के लिए होंगे जो कक्षा 1 से लेकर के कक्षा 5 तक के छात्रों को पढ़ाने हेतु शिक्षक बनना चाहते हैं।

वही दूसरा प्रश्न ऐसे व्यक्तियों के लिए होगा। जो 6 कक्षा से लेकर के 8 कक्षा तक के छात्रों को पढ़ाने के लिए शिक्षक बनने की इच्छा रखते हैं।

जो भी उम्मीदवार कक्षा 1 से लेकर के कक्षा 5 तथा कक्षा 6 से लेकर के कक्षा 8 दोनों के ही शिक्षक बनने की इच्छा रखते हैं, उन्हें दोनों ही पेपर में सम्मिलित होना पड़ेगा।

दोनों प्रश्नपत्र की परीक्षा की अवधि 2:30 घंटे की होगी, तथा प्रश्नों की संख्या कुल 150 होगी। 

UPTET की वैधता के विषय में भी जानें 

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा की वैधता उत्तर प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा बढ़ा करके आजीवन करवा दी गई है।

ऐसे में अब जो उम्मीदवार एक बार UPTET परीक्षा उत्तीर्ण कर लेंगे। उन्हें कुछ सालों के पश्चात UPTET परीक्षा में पुनः से शामिल होने की आवश्यकता नहीं है।

इससे पूर्व यूपीटेट की वैधता केवल 5 वर्षों तक की ही थी। वैसे तो उम्मीदवार अपने अंक को बढ़ाने के लिए जितनी बार चाहे उतनी बार इस परीक्षा में बैठ सकते हैं।

इसके अतिरिक्त यदि आप इस परीक्षा से संबंधित अधिक से अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो उसके लिए आप इसके ऑफिसियल वेबसाइट में भी विजिट कर सकते हैं, जिसके लिए आप https://updeled.gov.in/ का प्रयोग कर सकते हैं।

निष्कर्ष

आज के इस पोस्ट में हमने आप सभी लोगों के समक्ष यूपीटेट परीक्षा से संबंधित काफी सारी आवश्यक जानकारियां उल्लेखित की है।

हमने यह भी बताया है कि इस परीक्षा के लिए अभ्यार्थियों को इच्छा अनुसार पेपर देने की स्वतंत्रता है। अर्थात यदि वह चाहे तो पेपर एक भी दे सकते हैं और यदि वे चाहें तो पेपर 1 तथा 2 दोनों भी दे सकते हैं। 

Leave a Comment

Join Youtube